PG कॉलेज अगस्त्यमुनि में IGNOU इंडक्शन मीटिंग का आयोजन

Edited By Nitika, Updated: 23 May, 2023 02:59 PM

ignou induction meeting organized at pg college agastyamuni

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि में संचालित इग्नू अध्ययन केंद्र में जुलाई 2022 और जनवरी 2023 के छात्रों के लिए इंडक्शन मीटिंग का आयोजन किया गया।

 

रुद्रप्रयागः उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि में संचालित इग्नू अध्ययन केंद्र में जुलाई 2022 और जनवरी 2023 के छात्रों के लिए इंडक्शन मीटिंग का आयोजन किया गया। पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि की प्रिंसिपल प्रोफेसर पुष्पा नेगी ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि इग्नू क्षेत्रीय निदेशक डॉक्टर अनिल कुमार डिमरी ने शिरकत की। पुष्पा नेगी, अनिल कुमार डिमरी और इग्नू कॉर्डिनेटर डॉ. अखिलेश्वर द्विवेदी ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

PunjabKesari

प्रिंसिपल प्रोफेसर पुष्पा नेगी ने अपने संबोधन में इग्नू के छात्रों को उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामना दी। उन्होंने बताया कि दूरस्थ माध्यम से उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए इग्नू एक सर्वोत्तम प्लेटफॉर्म है। नेगी ने बताया कि इग्नू के अगस्त्यमुनि सेंटर में रुद्रप्रयाग और आसपास के जिलों के छात्र उच्च शिक्षा का लाभ उठा रहे हैं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर अनिल कुमार डिमरी ने छात्रों को संबोधित करते हुए बताया कि ‘इग्नू की स्थापना 1985 में की गई थी। इसके माध्यम से समाज के उस वर्ग को उच्च शिक्षा का लाभ मिल रहा है, जो संस्थागत अध्ययन प्रणाली अछवा किसी कारण से अपने उच्च शिक्षा को प्राप्त करने से वंचित रह गए थे। वर्तमान परिवेश में यूजीसी की नई गाइडलाइन के अनुसार अब विधार्थी संस्थागत प्रणाली से शिक्षा ग्रहण करने के साथ-साथ इग्नू से भी अपने डिग्री व डिप्लोमा पाठ्य़क्रमों को पूरा कर रहे हैं। इग्नू के किसी भी पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आयु सीमा की कोई बाध्यता नहीं है। इन्गू में प्रत्येक वर्ष दो सत्रों जनवरी व जुलाई में प्रवेश की प्रक्रिया और दो बार जून व दिसंबर में वार्षिक परीक्षाएं होती हैं।’

PunjabKesari

इग्नू के वरिष्ठ परामर्शदाता डॉ. एलडी गार्गी ने भारत की औपचारिक और अनौपचारिक शिक्षा के महत्व पर विस्तार से अपनी बात रखी। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में दूरस्थतम माध्यम से शिक्षा ग्रहण करने के ग्राफ में और भी इजाफा होगा। इग्नू कॉर्डिनेटर डॉ. अखिलेश्वर द्विवेदी ने बताया कि इंडक्शन मीटिंग का मकसद छात्रों को अध्ययन करने की प्रक्रियाओं और गतिविधियों से अवगत करवाना है। उन्होंने प्रवेश के बाद अध्ययन सामग्री प्राप्त करना, असाइनमेंट-प्रश्न पत्र डाउनलोड करना, असाइनमेंट बनाना,असाइनमेंट जमा करना, ऑनलाइन परीक्षा फार्म भरना आदि की जानकारी मुहैया करवाई। वहीं वरिष्ठ परामर्शदाता डॉ.सीताराम नैथानी ने पीजी कॉलेज अगस्त्यमुनि इग्नू स्टडी सेंटर (31031) की उपलब्धियों और संचालित पाठ्यक्रमों के बारे में बताया।

PunjabKesari

इग्नू परामर्शदाता डॉक्टर सुधीर पेटवाल ने बताया कि किन विषम परिस्थितियों में इग्नू स्टडी सेंटर के कोऑर्डिनेटर द्वारा बड़ी परिश्रम से इस मुकाम तक पहुंचाया गया। साथ ही उन्होंने बताया कि इग्नू के माध्यम से उच्च शिक्षा प्राप्त करके छात्र विभिन्न क्षेत्रों में अपने रोजगार की प्राप्ति कर सकते हैं। इग्नू इंडक्शन मीटिंग का कुशल संचालन राजनीति विज्ञान विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर आबिदा ने किया। इस कार्यक्रम में डॉ. दिलीप बिष्ट, डॉ. ममता शर्मा, डॉ. नवीन चंद्र खंडूरी, डॉ. निधि छाबड़ा, डॉ. दीप्ति राणा, डॉ. जीपी रतूड़ी, डॉ. सुनीता मिश्रा ने भी हिस्सा लिया। इसके अतिरिक्त कर्मचारीगण दीपक सेमवाल,संतोष प्रकाश, प्रताप सिंह, कुलदीप और जितेंद्र ने भी कार्यक्रम को सफल करने में अहम भूमिका अदा की।
 

Related Story

    Trending Topics

    Afghanistan

    134/10

    20.0

    India

    181/8

    20.0

    India win by 47 runs

    RR 6.70
    img title
    img title

    Be on the top of everything happening around the world.

    Try Premium Service.

    Subscribe Now!